भारत अब दुनिया को कुछ देता है, लेता नहीं : नड्डा

अंबाला. भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने सोमवार को देश के स्वास्थ्य क्षेत्र एवं स्वदेशी कोविड रोधी टीकों के विकास की सराहना करते हुए कहा कि भारत नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक ऐसा ‘‘बदलता हुआ देश’’ बन गया है जो अब दुनिया को कुछ न कुछ देने का काम करता है, न कि लेने का.

नड्डा ने यहां 72 करोड़ रुपये की लागत से स्थापित अटल कैंसर केयर सेंटर का उद्घाटन करते हुए स्वास्थ्य क्षेत्र में ‘‘बड़ा बदलाव’’ लाने का श्रेय मोदी सरकार को दिया. सभा की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘किसी ने भी मास्क नहीं पहना है. यह ‘सुरक्षा कवच’ किसने दिया?” नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश में 130 करोड़ लोगों को कोरोना वायरस से “बचाया” है.

उन्होंने दावा किया कि पिछली सरकारों के तहत चेचक और पोलियो जैसी बीमारियों के टीके भारत तक पहुंचने में कई साल लग गए.
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष ने कहा कि जब जनवरी 2020 में भारत में कोविड महामारी आई, तो मोदी सरकार ने एक कार्यबल का गठन किया और नौ महीने के भीतर दो टीके विकसित किए गए.

उन्होंने कहा, “यह एक बदलता देश है. अब हम लेने वाले नहीं हैं, देने वाले हैं.” नड्डा ने दावा किया कि अपनी बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के बावजूद अमेरिका ने महामारी के सामने खुद को असहाय महसूस किया. उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन द्वारा मास्क पहने जाने का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि भारत द्वारा शुरू किए गए “दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण कार्यक्रम” में 190 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं.

भाजपा नेता ने कहा कि देश ने 100 देशों को टीके की 18.50 करोड़ खुराक दीं हैं जिनमें से 1.43 करोड़ खुराक 48 देशों को मुफ्त दी गई हैं. उन्होंने कहा कि हरियाणा में एक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) भी बनेगा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसकी आधारशिला रखेंगे.

नड्डा ने कांग्रेस के नेतृत्व वाली पूर्ववर्ती सरकारों पर निशाना साधते हुए कहा, “स्वास्थ्य क्षेत्र में अब एक बड़ा बदलाव आया है.” उन्होंने कहा कि केंद्र में अटल बिहारी वाजपेयी की भाजपा नीत सरकार के सत्ता में आने से पहले देश में केवल एक एम्स था. उन्होंने कहा कि वाजपेयी सरकार ने छह एम्स और स्थापित किए लेकिन संप्रग के 10 साल के शासन में कोई नया एम्स नहीं बना. नड्डा ने कहा कि मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद 16 और एम्स स्थापित किए गए हैं.

यूक्रेन के खिलाफ रूस के युद्ध पर नड्डा ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार यूक्रेन में फंसे 23,000 भारतीय छात्रों को वापस लेकर आई जिनमें से लगभग 1,700 हरियाणा से थे. नड्डा ने कहा, “क्या दुनिया में कोई देश है जो अपने लोगों को वहां से लाया है? क्या अमेरिका, आॅस्ट्रेलिया, कनाडा, पाकिस्तान और बांग्लादेश ने अपने लोगों को बाहर निकाला? यह प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत है जिसने एक महीने के भीतर 23,000 छात्रों को सुरक्षित निकाला.’’

उन्होंने कहा, “यहां तक ??कि कुछ अन्य देशों के लोग भी तिरंगा लेकर सुरक्षित आ गए.” नड्डा ने कहा, ‘‘आज मोदी जी के नेतृत्व में हमारी राजनीतिक संस्कृति बदल गई है. अब कोई नेता आता है और अपना रिपोर्ट कार्ड पेश करता है. दूसरे दलों के नेताओं को भी कहना पड़ता है कि वे भी ऐसा प्रयास करेंगे.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button