भारत ने यूएनएससी से कहा, रूस-यूक्रेन युद्ध में किसी की नहीं होगी जीत

संयुक्त राष्ट्र. भारत ने बृहस्पतिवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) से कहा कि रूस-यूक्रेन युद्ध में दोनों में से किसी भी पक्ष की जीत नहीं होगी. भीषण लड़ाई वाले क्षेत्रों से मासूम नागरिकों की तत्काल निकासी पर जोर देते हुए उसने कहा कि इस युद्ध में ‘कूटनीति’ अंतिम हताहत होगी.

यूक्रेन पर यूएनएससी की बैठक में संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने स्पष्ट किया कि भारत शांति का पक्षधर है. उन्होंने कहा, ‘‘यूक्रेन में युद्ध की शुरुआत के बाद से ही भारत लगातार दुश्मनी को पूरी तरह से खत्म करने और इससे बाहर निकलने के लिए बातचीत व कूटनीति का रास्ता अपनाने का आह्वान कर रहा है.’’

तिरुमूर्ति ने कहा, ‘‘हालांकि, युद्ध के कारण लोगों की जान गई है और उन्हें अनगिनत दुख मिले हैं, खासकर महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों को. करोड़ों लोग बेघर हो गए हैं. उन्हें पड़ोसी देशों में शरण लेने के लिए मजबूर होना पड़ा है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘भारत शांति का पक्षधर है और इसलिए मानता है कि इस युद्ध में कोई विजयी पक्ष नहीं होगा. युद्ध से प्रभावित लोगों को नुकसान होता रहेगा और कूटनीति इसकी अंतिम हताहत होगी.’’

तिरुमूर्ति ने जोर देकर कहा कि भारत ने यूक्रेन के बुचा शहर में नागरिकों की हत्या की कड़ी निंदा की है और मामले की स्वतंत्र जांच के आह्वान का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि नयी दिल्ली यूक्रेन के लोगों की पीड़ा को कम करने से जुड़े सभी प्रयासों का समर्थन भी करती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button