दिव्यांग बच्चे को विमान में सवार होने से रोके जाने के मामले में इंडिगो के सीईओ ने खेद जताया

नयी दिल्ली. विमानन कंपनी इंडिगो के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) रोनोजॉय दत्ता ने रांची हवाई अड्डे पर शनिवार को एक दिव्यांग बच्चे को हैदराबाद जाने वाले विमान में सवार न होने देने की घटना पर सोमवार को खेद जताया। इंडिगो ने दिव्यांग बच्चे को रांची हवाई अड्डे पर विमान में सवार होने से रोक दिया था क्योंकि वह ‘‘घबराया’’ हुआ था।

दत्ता ने एक बयान में कहा, ‘‘इस घटना के सभी पहलुओं की समीक्षा करने के बाद हमारा एक संस्था के तौर पर मानना है कि हमने मुश्किल परिस्थितियों में सबसे बेहतर निर्णय लिया।’’ उन्होंने कहा कि ‘चेक-इन’ और ‘बोर्डिंग’ की प्रक्रिया के दौरान उनका इरादा परिवार को ले जाने का था, हालांकि बोर्डिंग क्षेत्र में किशोर घबराया हुआ दिख रहा था।

सीईओ ने कहा, ‘‘अपने यात्रियों को शालीन एवं करुणामयी सेवा उपलब्ध कराना हमारे लिए सर्वोपरि है। हम भलीभांति यह जानते हैं कि दिव्यांग लोगों की देखभाल में अपनी ंिजदगी सर्मिपत करने वाले अभिभावक हमारे समाज के सच्चे नायक हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम इस दुखद अनुभव के लिए प्रभावित परिवार के प्रति खेद व्यक्त करते हैं और जीवनभर के उनके समर्पण के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करते हुए हम उनके बेटे के लिए ‘इलेक्ट्रिक व्हीलचेयर’ खरीदने की पेशकश करना चाहते हैं।’’

लड़के को शनिवार को एअरलाइन की रांची-हैदराबाद उड़ान में चढ़ने से रोक दिया गया था। इसके बाद उसके माता-पिता ने भी उड़ान में सवार नहीं होने का फैसला किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button