जम्मू-कश्मीर : बडगाम के तहसील कार्यालय में कश्मीरी पंडित कर्मचारी की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर के बडगाम जिले के चदूरा इलाके में आतंकवादियों ने बृहस्पतिवार को कश्मीरी पंडित समुदाय से संबंध रखने वाले एक सरकारी कर्मचारी की उसके कार्यालय में गोली मारकर हत्या कर दी. अधिकारियों ने यहां यह जानकारी दी. इस घटना की विभिन्न राजनीतिक दलों ने निंदा की है.

अधिकारियों ने बताया कि दो बंदूकधारी चदूरा इलाके में स्थित तहसील कार्यालय में दाखिल हुए और लिपिक राहुल भट को गोली मार दी. उन्होंने बताया कि भट की तैनाती प्रवसियों के लिए शुरू विशेष रोजगार पैकेज के तहत की गई थी. अधिकारियों ने बताया कि भट बडगाम के शेखपुरा स्थित प्रवासी कॉलोनी में रहते थे. उन्होंने बताया कि गोली मारे जाने के बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी मौत हो गई.

कश्मीर जोन की पुलिस ने ट्वीट किया, ‘‘घायल को तत्काल श्रीनगर के एसएमएचएस अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी मौत हो गई. शुरुआती जांच के अनुसार इस जघन्य अपराध में दो आतंकवादी संलिप्त हैं और उन्होंने अपराध को अंजाम देने के लिए पिस्तौल का इस्तेमाल किया है.’’ उन्होंने बताया कि आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने तलाशी अभियान शुरू किया है. कम ज्ञात संगठन ‘‘कश्मीर टाइगर्स’’ने भट की हत्या की जिम्मेदारी ली है.

गौरतलब है कि अगस्त 2019 में अनुच्छेद-370 को निष्क्रिय किए जाने के बाद से कश्मीर में गैर मुस्लिमों और बाहर से आए लोगों पर हमले बढ़े हैं. अगस्त 2019 से लेकर मार्च 2022 के बीच जम्मू-कश्मीर में कश्मीरी पंड़ितों सहित कुल 14 अल्पसंख्यक ंिहदुओं की हत्या आतंकवादियों द्वारा की गई है. आतंकवादियों द्वारा जिन लोगों को निशाना बनाया गया है उनमें कश्मीर के विभिन्न हिस्सों के प्रमुख कारोबारी, सरपंच और ब्लॉक विकास परिषद के सदस्य शामिल हैं. उप राज्यपाल मनोज सिन्हा और कश्मीर की अन्य पार्टियों ने भट की हत्या की निंदा की है.

सिन्हा ने ट्वीट किया, ‘‘ मैं बडगाम में आतंकवादियों द्वारा राहुल भट की क्रूर हत्या की कड़ी निंदा करता हूं. जो इस जघन्य आतंकवादी हमले के पीछे हैं उन्हें बिना दंडित किए बिना नहीं छोड़ा जाएगा. जम्मू-कश्मीर सरकार दुख के समय में दिवंगत के परिवार के साथ एकजुट होकर खड़ी है.’’ पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) ने ट्वीट किया, ‘‘ हम राहुल भट जी की हत्या की साफ शब्दों में निंदा करते हैं जो बडगाम में राजस्व विभाग के कर्मचारी थे. घाटी के हर कोने में सुरक्षा बलों की तैनाती के बावजूद सरकारी कर्मचारी भी सुरक्षित नहीं है. दुख की इस घड़ी में हमारी संवेदनाएं और प्रार्थना पीड़ित परिवार के साथ है.’’

नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘ हम स्पष्ट शब्दों में राहुल भट पर हुए प्राणघातक आतंकवादी हमले की निंदा करते हैं. राहुल सरकारी कर्मचारी थे जो चादूरा के तहसील कार्यालय में कार्यरत थे जहां पर हमला हुआ. लक्षित हमले जारी हैं और भय का महौल कायम है. मैं हृदय से राहुल के परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं.’’ भाजपा के प्रवक्ता अल्ताफ ठाकुर ने आतंकवादियों द्वारा की गई इस कायराना कार्रवाई की’’कड़ी निंदा की. उन्होंने कहा, ‘‘हमलावरों को न्याय के कठघरे में लाया जाएगा.’’ कांग्रेस ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि ऐसे जघन्य अपराध करने वालों को समझ लेना चाहिए कि अमानवीय कृत्य कर वे कुछ हासिल नहीं कर सकते. सज्जाद लोन नीत पीपुल्स कांफ्रेंस ने भी घटना की निंदा की.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button