जम्मू-कश्मीर : कुलगाम में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में रविवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए जिनमें लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) का एक पाकिस्तानी आतंकवादी भी शामिल है. पुलिस ने यह जानकारी दी. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि कुलगाम के चेयन देवसर इलाके में मुठभेड़ तब शुरू हुई, जब सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना के बाद क्षेत्र की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया.

अधिकारी ने बताया कि सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच गोलीबारी में दोनों आतंकवादी मारे गए. कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने कहा कि मारे गए आतंकवादियों में हैदर नाम का पाकिस्तानी आतंकवादी भी शामिल है.

उन्होंने ट्वीट किया, ”पाकिस्तानी आतंकवादी हैदर बांदीपुरा में हुई दो आतंकी घटनाओं में शामिल था. दस नवंबर 2021 की घटना में, एसजीसीटी मोहम्मद सुल्तान और सीटी फÞयाजÞ शहीद हो गए थे. 11 फरवरी 2022 को दूसरी घटना में, एसपीओ जुबैर अहमद बलिदान हो गए और बीएसएफ के एक एएसआई सहित तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए थे.” कुमार ने बताया कि मारा गया दूसरा आतंकवादी स्थानीय व्यक्ति था जिसकी पहचान कुलगाम के शाहबाज शाह के रूप में हुई है. उन्होंने कहा कि शाहबाज 13 अप्रैल को कुलगाम के काकरान में हुई एक आम नागरिक सतीश कुमार सिंह की हत्या में शामिल था.

कश्मीर के बांदीपुरा से दो ‘हाइब्रिड’ आतंकवादी गिरफ्तार

जम्मू-कश्मीर के बांदीपुरा जिले में हिज्बुल मुजाहिदीन के दो ‘हाइब्रिड’ आतंकवादी गिरफ्तार किए गए हैं. आतंकवादियों के पास से कई भारी हथियार और गोला-बारूद भी बरामद किया गया है. पुलिस के एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि आतंकवादियों के बांदीपुरा से श्रीनगर की तरफ बढ़ने की सटीक सूचना मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने शनिवार को वुल्लर वेंटेज अरागम के पास एक जांच चौकी बनाई.

अधिकारी के मुताबिक, पैदल यात्रियों और वाहनों की तलाशी लेते हुए दो संदिग्ध लोगों को एक कार में देखा गया, जिन्होंने नाके पर सुरक्षार्किमयों को देखकर अपनी पहचान छिपाने की कोशिश की. उन्होंने बताया कि कड़ी पूछताछ करने पर संदिग्ध लोगों ने जांच चौकी से भागने की कोशिश की और इस दौरान उन्हें पकड़ लिया गया. अधिकारियों ने गिरफ्तार आतंकवादियों की पहचान आबिद अली और फैसल हसन पारे के रूप में की है और वे पुलवामा के हेरपुरा अचान के रहने वाले हैं.

उन्होंने बताया कि दोनों आतंकवादियों से पूछताछ और वाहन की तलाशी के दौरान उनके पास से आपत्तिजनक सामग्री, एक एके-47 राइफल, दो मैगजीन के साथ 30 कारतूस, एक पिस्तौल, एक पिस्तौल मैगजीन के साथ चार कारतूस समेत अन्य हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया. अधिकारियों के अनुसार, आतंकवादियों द्वारा इस्तेमाल वाहन जब्त कर लिया गया है. उन्होंने बताया कि घटना के संबंध में एक मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी गई है.

पुलिस ने बताया कि ‘हाइब्रिड’ आतंकवादी आतंकी मंसूबों के प्रति सहानुभूमि रखते हैं और वे अपने आकाओं द्वारा दिए गए काम के अनुसार लक्षित हमले करने को पर्याप्त रूप से प्रशिक्षित होते हैं. आतंकवादी वारदात को अंजाम देने के बाद वे सामान्य जीवन जीने लगते हैं और अगला काम मिलने का इंतजार करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button