श्रीलंका में पेट्रोल पंपों के बाहर लंबी कतारें, इंतजार करते हुए दो बुजुर्गों की मौत

कोलंबो. श्रीलंका में पेट्रोल पंपों के बाहर लंबी कतारों में अपनी बारी की बाट जोहते हुए 70 साल के दो बुजुर्गों की मौत हो गयी. अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी. श्रीलंका इन दिनों ईंधन की भारी किल्लत से जूझ रहा है और उसके सामने विदेशी मुद्रा भंडार का ऐतिहासिक संकट खड़ा हो गया है.

कोलंबो पुलिस ने कहा कि मध्य कांडी जिले एवं कोलंबो के उपनगरीय क्षेत्र में शनिवार को करीब 70 साल उम्र के दो वृद्धों की मौत हो गयी. पुलिस के अनुसार दोनों करीब छह घंटों से अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे. माना जाता है कि भयंकर गर्मी उनकी मौत की प्राथमिक वजह है. अधिकारियों ने कहा कि सरकार राहत के लिए भारतीय ईंधन पर भरोसा कर रही है.

सरकारी सीलोन पेट्रोलियम कोरपोरेशन के अध्यक्ष सुमित विजेंिसघे ने कहा, ‘‘भारतीय क्रेडिट लाइन से हमें पेट्रोल, डीजल एवं जेट ईंधन जैसे उत्पाद मिलते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें (इस महीने की) 13वीं एवं 14वीं तारीख को जेट ईंधन मिला है. हमारे पास एक अन्य डीजल जहाज आया है जिससे कल माल उतारा जाएगा.’’ उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि लोग ईंधन की कमी के चलते उसे जमा कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि संकट से पहले डीजल की दैनिक मांग 5500 मीट्रिक टन और पेट्रोल की मांग 3300 मीट्रिक टन थी लेकिन अत्यधिक खरीद की वजह से यह क्रमश: 7000-8000मीट्रिक टन एवं 4200 मीट्रिक टन तक पहुंच गयी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button