श्रीलंका की ही दिशा में भारत को ले जाने की कोशिश कर रही है मोदी सरकार

केन्द्र सरकार की आर्थिक नीतियां देश को खोखला कर रही है : पायलट

जयपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बृहस्पतिवार को कहा कि केन्द्र सरकार भारत को श्रीलंका की ही दिशा में ले जाने की कोशिश कर रही है जहां राष्ट्रवाद और अल्पसंख्यक विरोध के नाम पर लोगों का ध्यान भटकाया गया था. गहलोत ने ट्वीट किया, ‘‘श्रीलंका में आज लोगों के पास खाना नहीं क्योंकि वहां भी राष्ट्रवाद और अल्पसंख्यक विरोध के नाम पर ध्यान भटकाया गया. ऐसी ही दिशा में भारत को ले जाने की कोशिश कर रही है मोदी सरकार.’’

उन्होंने कहा कि भाजपा को यह भरोसा हो गया है कि कितनी भी महंगाई बढ़ जाए पर धार्मिक ध्रुवीकरण से वह चुनाव जीत लेंगे. उन्होंने जनता का आह्वान किया, ‘‘लेकिन आप सब तैयारी कर लें, 2023 में राजस्थान में और 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को करारा जवाब देकर राजस्थान से भाजपा का सूपड़ा साफ कर देना है.’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘‘देशभक्ति तो हर हिन्दुस्तानी के दिल में है. नेहरू-गांधी परिवार के प्रति देशवासियों का विश्वास भी देशभक्ति के लिये गांधी परिवार के त्याग के कारण ही है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘इतिहास गवाह है कि पंडित जवाहरलाल नेहरू देश की आजादी के लिए 10 साल से अधिक समय जेलों में बंद रहे. इन्दिरा गांधी युवावस्था में आजादी की लड़ाई में जेल गईं. यदि कांग्रेस पार्टी गांधी-नेहरू परिवार के नेतृत्व में विश्वास करती है,तो प्रधानमंत्री का इस पर कटाक्ष पद की गरिमा के खिलाफ है.’’ उन्होंने कहा कि ‘‘भाजपा 2014 से पहले कहती थी- बहुत हुई महंगाई की मार, अबकी बार मोदी सरकार. भाजपा के राज में पेट्रोल-डीजल, रसोई गैस, सब्जी, तेल, कपड़े, दूध, दवा, मोबाइल- टीवी रिचार्ज, हाईवे का टोल टैक्स सब महंगा हो गया है.’’

केन्द्र सरकार की आर्थिक नीतियां देश को खोखला कर रही है : पायलट

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि केन्द्र सरकार की आर्थिक नीतियां देश को खोखला कर रही है और महंगाई ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है. उन्होंने कहा, ‘‘ पेट्रोल डीजल के बढेÞ हुए दामों से जो आय हो रही है वो राज्य सरकारों को नहीं जा रही.. राज्य सरकारों का जो हिस्सा बनता है, वो केन्द्र सरकार दे नहीं रही है.’’

पायलट ने कहा, ‘‘भाजपा सरकार में पिछले सात सालों में हम जो पेट्रोल-डीजल के बढेÞ हुए दाम देख रहे हैं, उनमें से अधिकांश सेस के रूप में वसूली की गई है और उस सेस का पूरा पैसा केन्द्र सरकार की जेब में जा रहा है. केन्द्र सरकार ने केवल पेट्रोल-डीजल पर लगाये गये सेस के माध्यम से एक लाख 28 हजार करोड़ रूपये कमाये हैं.’’ उन्होंने कहा कि संघीय प्रणाली के अंदर देश की आय जो होती है उसका विभाजन होता है, केन्द्र के पास कुछ हिस्सा जाता है और राज्य के पास कुछ हिस्सा जाता है.

पायलट ने केन्द्र की ओर राज्यों को मिलने वाली हिस्सेदारी की कटौती पर कहा कि ‘‘ पिछले 70 वर्षों में जब जब कर या उत्पादन शुल्क लगता था..उसका विभाजन होता था, केन्द्र सरकार के पास एक अंश जाता था और बाकी राज्य सरकारों में बंटता था.’’ कांग्रेस नेता ने बृहस्पतिवार को महंगाई के विरोध में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आ’’ान पर देशभर में चलाए जा रहे ‘‘महंगाई मुक्त भारत’’ अभियान के तहत प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा आयोजित विरोध प्रदर्शन को संबोंधित करते हुए कहा ‘‘केन्द्र सरकार की आर्थिक नीतियां देश को खोखला कर रही है. महंगाई आसमान छू रही है और केन्द्र सरकार ने महंगाई को नियंत्रित करने के लिये कोई कदम नहीं उठाये है. महंगाई ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है.’’

उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल को अगर छोड़ भी दें तो खाद्य तेल हो, खाद्य सामग्री हो, फल, सब्जी, दाल चीनी, तेल सभी के दाम आसमान छू रहे हैं.’’ पायलट ने केन्द्र सरकार पर देश की संपत्तियों को बेचने का आरोप लगाते हुए कहा कि ‘‘संपत्तियों को बेचकर सीमित लोगों को पैसा पहुंचाया जा रहा है.’’ उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान सभी देशों ने सीधा लोगो को पैसे दिये लेकिन यहां की केन्द्र सरकार ने ऐसा कुछ नहीं किया जिससे जनता को मदद पहुंच सके.

पायलट ने कहा कि वित्तमंत्री ने 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा की थी लेकिन वो रुपये कहां गए उसका पता नहीं है.
उन्होंने कहा कि यह पहली सरकार है जिसने उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों को राज्यसभा भेजा है और प्रधान न्यायाधीश को राज्यपाल बनाकर राजनीतिक पद दिये हैं. पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि देश में ऐसा माहौल है जिसमें कांग्रेस पार्टी को और मजबूती से लड़ना पडेÞगा. उन्होंने कहा कि हम सबको मिलकर कांग्रेस की सदस्यता में गति लानी होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button