मंबई पुलिस ने आंगडिया उगाही मामले में निलंबित आईपीएस अधिकारी त्रिपाठी के रिश्तेदार को गिरफ्तार किया

मुबई. आंगडिया उगाही मामले की जांच कर रहे मुंबई अपराध शाखा के दल ने सहायक बिक्री कर आयुक्त आशुतोष मिश्रा को उत्तर प्रदेश के बस्ती से गिरफ्तार किया है। पुलिस के एक अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी। आंगडिया पारंपरिक कोरियर सेवा प्रदान करने वाले व्यक्ति होते हैं, जो एक राज्य से दूसरे राज्यों में कारोबारियों द्वारा भेजा गया धन पहुंचाते हैं। यह सेवा खास तौर पर आभूषण के कारोबार में चलती है।

मिश्रा निलंबित किए गए भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी सौरभ त्रिपाठी के रिश्तेदार हैं। अधिकारी ने बताया कि जांच के दौरान अपराध खुफिया शाखा (सीआईयू) ने पाया कि मिश्रा को कथित तौर पर त्रिपाठी द्वारा वसूला गया धन मिला था। उन्होंने बताया कि सीआईयू के दल ने मिश्रा को मंगलवार को बस्ती से पकड़ा, उन्हें बस्ती की एक अदालत में पेश किया गया जहां से उन्हें मुंबई पुलिस की ट्रांजिट हिरासत में भेज दिया गया।

गौरतलब है कि दक्षिण मुंबई में आंगडिया संगठन ने पिछले वर्ष दिसंबर में एक शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि त्रिपाठी ने उनसे रिश्वत के रूप में प्रति माह 10 लाख रुपये की मांग की थी। शिकायत में प्रारंभिक तौर पर लोकमान्य तिलक मार्ग थाने के तीन पुलिसर्किमयों के नाम थे। इस मामले में निरीक्षक ओम वांगटे, एपीआई नितिन कदम, पीएसआई समाधान जामदादे और त्रिपाठी के एक घरेलू सहायक को गिरफ्तार किया गया था। महाराष्ट्र सरकार ने त्रिपाठी को पिछले माह निलंबित कर दिया था। वह फिलहाल फरार है और उनकी तलाश जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button