केरल में चोरी के एक मामले से खुला मैसूर के चिकित्सक की हत्या का रहस्य

बवासीर के इलाज के गोपनीय फॉर्मूले के लिए हुई थी हत्या

मलाप्पुरम. केरल पुलिस ने चोरी के एक मामले की जांच की मदद से मैसूर में चिकित्सक की हत्या के मामले को सुलझाने का दावा किया है. पुलिस के मुताबिक मैसूर के एक स्थानीय व्यवसायी ने दो साल पहले पारंपरिक चिकित्सा पद्धति के जरिए इलाज करने वाले एक चिकित्सक की हत्या कर दी थी. व्यवसायी चिकित्सक से बवासीर के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा का गोपनीय सूत्र (फॉर्मूला) जानना चाहता था.

पुलिस के मुताबिक काईपनचेरी के रहने वाले व्यवसायी शैबिन अशरफ ने हाल ही में अपने कुछ साथियों के खिलाफ चोरी की शिकायत दर्ज कराई थी. लेकिन शैबिन से जब पूछताछ की गयी तो उसने बताया कि उसने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर चिकित्सक की हत्या कर दी थी.

मलप्पुरम के पुलिस अधीक्षक सुजीत दास ने बुधवार को कहा कि दवा का गोपनीय फॉर्मूला जानने के लिए चिकित्सक शबा शरीफ (60) को नीलांबुर में शैबिन अशरफ के आवास पर एक साल तक कैद कर रखा गया और उसे इस दौरान क्रूर यातनाएं दी गईं. शबा का अगस्त 2019 में मैसूर स्थित उसके घर से अपहरण कर लिया गया था. उसकी हत्या करने के बाद उसके शव के टुकड़े कर नदी में फेंक दिए गए थे.

पुलिस अधीक्षक ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘इस मामले में शैबिन अशरफ सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया गया और एक अदालत के समक्ष पेश किया गया. इससे पहले, हमने मैसूर पुलिस से संपर्क किया और मृतक चिकित्सक के बारे में जानकारी एकत्र की. उसके परिवार द्वारा 2019 में लापता होने की शिकायत दर्ज कराई गई थी.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button