पश्चिम बंगाल में हिंसा के खिलाफ न्यायालय पहुंचे भाजपा नेता गौरव भाटिया, सीबीआई जांच का अनुरोध

बंगाल में चुनाव बाद हिंसा ने बंटवारे के दिनों की याद दिला दी है: नड्डा

नयी दिल्ली/कोलकाता. भाजपा नेता गौरव भाटिया ने पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा ‘‘विधानसभा चुनाव से पहले, चुनाव के दौरान और बाद में’’ कथित रूप से हत्या और बलात्कार सहित ‘‘अनियंत्रित ंिहसा’’ की सीबीआई जांच के लिये मंगलवार को उच्चतम न्यायालय में आवेदन दायर किया है.

वरिष्ठ अधिवक्ता भाटिया ने 2018 की अपनी लंबित जनहित याचिका में दायर इस आवेदन में राज्य सरकार को यह निर्देश देने का अनुरोध किया है कि वह ंिहसा में लिप्त व्यक्तियों के खिलाफ दर्ज प्राथमिकियों, गिरफ्तारियों और उठाए गए कदमों के बारे में एक विस्तृत स्थिति रिपोर्ट दाखिल करे.

भाटिया ने अपनी अर्जी में कहा, ‘‘यह तात्कालिक अर्जी…पश्चिम बंगाल में हाल में संपन्न विधानसभा चुनावों से पहले, चुनाव के दौरान और बाद में नृशंस हत्याओं, बलात्कार और छेड़छाड़ जैसे गंभीर अपराधों, अनियंत्रित ंिहसा और कानून एवं व्यवस्था के पूरी तरह से ध्वस्त होने के तथ्य का शीर्ष अदालत के संज्ञान में लाने के लिए है.’’ तृणमूल कांग्रेस पार्टी ने पश्चिम बंगाल में 294 सदस्यीय विधानसभा चुनाव में 200 से अधिक सीटों पर जीत हासिल की है.

बंगाल में चुनाव बाद हिंसा ने बंटवारे के दिनों की याद दिला दी है: नड्डा
भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने मंगलवार को कहा गया कि पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हुई व्यापक ंिहसा ने उन अत्याचारों की याद दिला दी है जिसका सामना लोगों को देश के विभाजन के दौरान करना पड़ा था. नड्डा ने राज्य में पार्टी कार्यकर्ताओं को ‘‘क्रूरता’’ के विरूद्ध लोकतांत्रिक तरीके से लड़ने के लिए प्रेरित किया.

पश्चिम बंगाल के दो दिवसीय यात्रा पर पहुंचे नड्डा ने कहा कि पूरे भारत में भाजपा कार्यकर्ताओं ने राज्य के उन कार्यकर्ताओं के साथ एकजुटता व्यक्त की है, जो ‘‘ंिहसक हमलों का सामना कर रहे हैं.’’ उन्होंने नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम इस वैचारिक लड़ाई और तृणमूल कांग्रेस की गतिविधियों से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जो असहिष्णुता से भरी हुई है.’’

भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘मैंने विभाजन के दौरान हुए अत्याचारों के बारे में सुना है, लेकिन मैंने चुनाव के बाद ऐसी ंिहसा नहीं देखी है जो पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणाम (2 मई को) घोषित होने के बाद राज्य में हो रही है.’’

प्रधानमंत्री ने मुझसे बात की, बंगाल में कानून-व्यवस्था की स्थिति पर क्षोभ जताया : राज्यपाल
पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे बात की और चुनाव के बाद कई जिलों से ंिहसा की खबरों के मद्देनजर राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति पर गहरा क्षोभ प्रकट किया.

पश्चिम बंगाल में सोमवार को ंिहसा में भाजपा के कुछ कार्यकर्ता मारे गए और कई घायल हो गए तथा दुकानों में लूटपाट की गयी. केंद्र ने राज्य में विपक्षी कार्यकर्ताओं पर हमले की घटनाओं को लेकर सरकार से तथ्यात्मक रिपोर्ट सौंपने को कहा है. धनखड़ ने ट्वीट किया, ‘‘प्रधानमंत्री ने फोन पर बातचीत में कानून-व्यवस्था की ंिचताजनक स्थिति पर गहरा क्षोभ प्रकट किया. मैंने प्रधानमंत्री से ंिहसा, लूटपाट, आगजनी की घटनाओं, हत्याओं पर गहरी ंिचता व्यक्त की.’’

भाजपा तृणमूल कांग्रेस के गुंडों का अत्याचार झेल रहे अपने कार्यकर्ताओं के साथ खड़ी है: दिलीप घोष
भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने मंगलवार को कहा कि पार्टी उन कार्यकर्ताओं के साथ खड़ी है जो चुनाव परिणाम की घोषणा के बाद तृणमूल कांग्रेस से संबद्ध गुंडों का अत्याचार झेल रहे हैं. राज्य चुनाव बाद की ंिहसा के गिरफ्त में है और इस दौरान कथित तौर पर भाजपा के कई कार्यकर्ताओं की मौत हो गयी एवं कई अन्य घायल हो गये. केंद्र ने विपक्षी कार्यकर्ताओं पर हमले की घटनाओं पर राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है.

घोष ने कहा, ‘‘ मैंने प्रतिकूल स्थितियों में भाग जाने की राजनीति नहीं की है . हमने मुश्किल लड़ाई लड़ी है.’’ उन्होंने कहा कि भाजपा ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में रिकार्ड 77 सीटें जीती हैं. उधर तृणमूल कांग्रेस 213 सीटें जीतकर विजयी हुई है और वह लगातार तीसरी बार सरकार बनाएगी.

घोष ने दावा किया कि उन स्थानों पर हमले किये जा रहे हैं जहां तृणमूल कांग्रेस भारी बहुमत से जीती है. उन्होंने कहा कि लेकिन भाजपा नेतृत्व अपने कार्यकर्ताओं के साथ खड़ा है जिन्होंने अपनी जान जोखिम में डालते हुए चुनाव लड़ा है. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ हम लड़ रहे हैं और आगे भी लड़ते रहेंगे. आज या कल बंगाल भाजपा के हाथों बदलाव का साक्षी बनेगा. ’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close