शेयर बाजार में चार दिन से जारी तेजी पर विराम, सेंसेक्स 341 अंक लुढ़का

मुंबई. शेयर बाजार में पिछले चार कारोबारी सत्रों से जारी तेजी पर मंगलवार को विराम लग गया और सेंसेक्स 341 अंक लुढ़क कर बंद हुआ. वैश्विक स्तर पर ंिजसों के दाम में तेजी के साथ मुद्रास्फीति बढ़ने की आशंका को लेकर दुनिया के प्रमुख शेयर बाजारों में गिरावट के साथ घरेलू बाजार भी नीचे आया.

कारोबारियों के अनुसार बैंक, वित्त और धातु कंपनियों के शेयरों में मुनाफावसूली से बाजार में गिरावट को बल मिला. तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स गिरावट के साथ खुला और पूरे कारोबार के दौरान यह नकारात्मक दायरे में रहा. अंत में यह 340.60 अंक यानी 0.69 प्रतिशत घटकर 49,161.81 अंक पर बंद हुआ.

इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 91.60 अंक यानी 0.61 प्रतिशत की गिरावट के साथ 14,850.75 अंक पर बंद हुआ. सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक 3 प्रतिशत का नुकसान कोटक बैंक को हुआ. इसके अलावा एचडीएफसी, बजाज फाइनेंस, बजाज फिनसर्व, टेक मंिहद्रा, एचयूएल, टाइटन और एक्सिस बैंक आदि के शेयरों में गिरावट रही.

दूसरी तरफ, एनटीपीसी, ओएनजीसी, पावरग्रिड, सन फार्मा, अल्ट्राटेक सीमेंट और एसबीआई लाभ में रहने वाले शेयरों में शामिल हैं. इनमें 4.60 प्रतिशत तक की तेजी आयी.

जियोजीत फाइनेंशियल र्सिवसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस्पात समेत ंिजसों के दाम में तेजी से वैश्विक स्तर पर मुद्रास्फीति बढ़ने की आशंका है. ऐसे में वैश्विक बाजारों में भविष्य में ब्याज दर बढ़ने की आशंका से गिरावट आयी है. इसका सर्वाधिक असर प्रौद्योगिकी क्षेत्र पर हुआ है क्योंकि यह क्षेत्र महामारी से सर्वाधिक लाभ में रहा है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘घरेलू धातु शेयरों में हल्की मुनाफावसूली देखी गयी जबकि सार्वजनिक लोक उपक्रमों के शेयरों में निवेशकों की रूचि देखी गयी.’’ रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी ने भी कहा, ‘‘विभिन्न देशों में ंिजसों के दाम तेजी से बढ़ने के बाद महंगाई बढ़ने को लेकर ंिचता के बीच एशियाई बाजारों में गिरावट रही. इसके अलावा चीन के मुद्रास्फीति के आंकड़ों ने भी धारणा को प्रभावित किया.’’ एशिया के अन्य बाजारों में हांगकांग, टोक्यो और सोल में गिरावट रही जबकि शंघाई बाजार लाभ में रहा.

यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरूआती कारोबार में गिरावट का रुख रहा. इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.66 प्रतिशत की गिरावट के साथ 67.87 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया. अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 73.34 पर लगभग स्थिर बंद हुआ.

शेयर बाजार के पास उपलब्ध आंकड़े के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) सोमवार को बाजार में शुद्ध लिवाल रहे हैं. उन्होंने सोमवार को 583.69 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close