महाराष्ट्र में लाउडस्पीकर दिशानिर्देशों का उल्लंघन नहीं, कोई शिवसेना को हिंदुत्व ना सिखाए : राउत

मुंबई. शिवसेना के सांसद संजय राउत ने बुधवार को कहा कि महाराष्ट्र में लाउडस्पीकर संबंधी दिशानिर्देशों का कोई उल्लंघन नहीं हुआ है और कोई भी उनकी पार्टी को हिंदुत्व ना सिखाए. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) का नाम लिए बिना राउत ने संवाददाताओं से कहा कि लोग उन लोगों पर गौर नहीं करते, जो ‘‘छद्म हिंदुत्ववादियों’’ के समर्थन से शिवसेना के खिलाफ साजिश रचते हैं. गौरतलब है कि मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने एक दिन पहले ही अजान के लिए लाउडस्पीकर का उपयोग किए जाने के विरोध में लोगों से हनुमान चालीसा का पाठ करने का आह्वान किया था.

राउत ने कहा, ‘‘ महाराष्ट्र में लाउडस्पीकर संबंधी नियमों का उल्लंघन नहीं हो रहा है. राज्य, उच्चतम न्यायालय द्वारा दिए गए दिशानिर्देशों का पालन कर रहा है. अगर कोई कानून का उल्लंघन करता है, तो सरकार उससे निपटने में सक्षम है.’’ राज्यसभा के सदस्य राउत ने कहा, ‘‘ स्थिति उस स्तर तक नहीं पहुंची है, जहां मुंबई या महाराष्ट्र में (लाउडस्पीकर के मुद्दे पर) एक आंदोलन की जरूरत हो. सभी मस्जिदों ने लाउडस्पीकर के इस्तेमाल को लेकर अनुमति ली है.’’

इससे कुछ देर पहले ही, राज ठाकरे ने महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना पर हमला तेज करते हुए दिवंगत बाल ठाकरे का एक पुराना वीडियो बुधवार को ट्विटर पर साझा किया था, जिसमें शिवसेना संस्थापक यह कहते नजर आ रहे हैं कि जिस दिन उनकी पार्टी सत्ता में आएगी, सड़कों पर नमाज अदा करना बंद कर दिया जाएगा और मस्जिद से लाउडस्पीकर हटा दिए जाएंगे.

इस पर राउत ने कहा, ‘‘ हम इतने नीचे नहीं गिरे हैं. हम अब भी उनके सिद्धांतों पर चल रहे हैं. बाला साहेब ने लाउडस्पीकर और सड़क पर नमाज अदा करने को लेकर अपना रुख स्पष्ट किया था. सत्ता में आने के बाद उन्होंने इसे रोका भी. शिवसेना को कोई ंिहदुत्व ना सिखाए.’’ शिवसेना के प्रमुख प्रवक्ता ने राज ठाकरे का नाम लिए बिना कहा कि उद्धव ठाकरे नीत महा विकास अघाड़ी सरकार कानून के तहत चल रही है, किसी के दिए ‘अल्टीमेटम’ पर नहीं. महाराष्ट्र में शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस की गठबंधन सरकार है.

राउत ने कहा, ‘‘महाराष्ट्र में ठाकरे सरकार है. भले ही राज्य में महा विकास अघाड़ी सरकार हो, लेकिन इसका नेतृत्व उद्धव ठाकरे ही कर रहे हैं. वह शिवसेना प्रमुख हैं और हिंदूहृदय सम्राट बाल ठाकरे के पुत्र हैं. इसलिए, उन्हें सड़कों पर नमाज पढ़ने और मस्जिदों में अवैध लाउडस्पीकर के बारे में सलाह की जरूरत नहीं है.’’ कुछ मस्जिदों के पास मनसे कार्यकर्ताओं द्वारा हनुमान चालीसा का पाठ किए जाने के बारे में पूछे गए एक सवाल पर राउत ने कहा, ‘‘ मैंने कोई आंदोलन नहीं देखा. अगर कोई अनधिकृत लाउडस्पीकर लगा ही नहीं है, तो आपको ही यह तय करना होगा कि आप विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं या कोई गैरकानूनी काम कर रहे हैं.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button