बढ़ती मुस्लिम जनसंख्या नहीं बल्कि ‘चरमपंथी मानसिकता’ है देश के लिए खतरा: गिरिराज

नयी दिल्ली. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने सोमवार को कहा कि देश बढ़ती मुस्लिम आबादी के कारण नहीं बल्कि ‘चरमपंथी मानसिकता’ के चलते खतरे का सामना कर रहा है जो गोरखनाथ मंदिर पर तैनात सुरक्षार्किमयों पर हमले के पीछे थी. सिंह ने विपक्ष पर घटना पर उसकी ‘‘चुप्पी’’ को लेकर निशाना साधा.

मुर्तजा नाम के व्यक्ति ने गोरखनाथ मंदिर के दक्षिणी प्रवेश द्वार पर तैनात पीएसी के दो कांस्टेबलों पर धारदार हथियार से हमला किया. गोरखनाथ मंदिर के मुख्य पुजारी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं. हमलावर ने कथित तौर पर ‘‘अल्लाहु अकबर’’ का नारे लगाने के बाद मंदिर में घुसने की भी कोशिश की.

सिंह ने संसद भवन परिसर में पत्रकारों से बातचीत में आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘देश में मुसलमानों की बढ़ती आबादी कोई खतरा नहीं है. खतरा चरमपंथी मानसिकता है जो विभिन्न रूप लेती है. कभी यह शरिया कानून लागू करने की मांग करती है, कभी-कभी यह हिजाब को लेकर प्रदर्शन करती है, कई बार यह संशोधित नागरिकता अधिनियम का भी विरोध करती है और दूसरी ओर एक शिक्षित व्यक्ति आतंकवादी की तरह कृत्य करता है.’’ पुलिस ने बताया कि आरोपी ने आईआईटी किया हुआ है. उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. भाजपा के कट्टर हिंदुत्व का चेहरा माने जाने वाले सिंह ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि इस घटना पर हर समय धर्मनिरपेक्षता का उपदेश देने वालों की ‘‘चुप्पी’’ एक बड़ा खतरा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button