प्रदर्शन करें या हटाए जाने के लिए तैयार रहें, केजरीवाल ने पंजाब के मंत्रियों से कहा

चंडीगढ़. आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरंिवद केजरीवाल ने रविवार को पंजाब में नवनियुक्त मंत्रियों से स्पष्ट शब्दों में प्रदर्शन करने या हटाए जाने के लिए तैयार रहने को कहा. केजरीवाल ने कहा कि जो विधायक मंत्री नहीं बनाए जाने से नाखुश हैं, उन्हें राज्य की प्रगति के लिए व्यक्तिगत महत्वाकांक्षाओं को पीछे छोड़ने की जरूरत है.

केजरीवाल ने कहा कि वह एक बड़े भाई की तरह उनका मार्गदर्शन करेंगे, जबकि सभी विधायकों को पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व में एक मजबूत टीम के रूप में ईमानदारी से काम करना होगा. केजरीवाल ने मुख्यमंत्री पद संभालने के बाद लिए गए फैसलों के लिए मान की सराहना भी की.

उन्होंने कहा, ‘‘मान साहब हर मंत्री को काम के सिलसिले में लक्ष्य देंगे. उन्हें चौबीसों घंटे काम करना होगा.’’ पंजाब में नयी सरकार के गठन के बाद वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए पार्टी विधायकों को अपने पहले संबोधन में आप प्रमुख ने कहा, ‘‘अगर आपके (मंत्रियों) लक्ष्य पूरे नहीं हुए, तो जनता कहेगी कि इस मंत्री को बदलो, दूसरे मंत्री को लाओ…काम किया जाना है और मान साहब जो भी लक्ष्य देंगे, उसे पूरा करना होगा.’’ केजरीवाल ने विधायकों को भी सलाह दी कि वे अधिकारियों समेत किसी के भी खिलाफ अभद्र या आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल न करें. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें अपने प्रदर्शन से पंजाब के लोगों का दिल जीतना होगा और पार्टी नेताओं को चेतावनी दी कि अगर वे कोई गलत काम करते हैं तो उनके खिलाफ ‘सख्त कार्रवाई’ की जाएगी.

केजरीवाल ने कहा, ‘‘मैं सब कुछ बर्दाश्त कर सकता हूं, लेकिन बेईमानी और जनता के पैसे की चोरी नहीं. अगर मुझे या मान साहब को पता चलता है कि किसी ने गलत काम किया है तो कोई मौका नहीं दिया जाएगा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘लोगों ने हम पर विश्वास दिखाया है और हम उनका भरोसा नहीं तोड़ सकते.’’ चुनाव में प्रतिद्वंद्वी दलों के कद्दावर नेताओं की हार की ओर इशारा करते हुए केजरीवाल ने कहा, ‘‘घमण्ड मत करना. आपने उन्हें नहीं हराया. यह लोग हैं, जिन्होंने उनको हराया है.’’ केजरीवाल ने कहा, ‘‘यह मत समझें कि मैं अब विधायक बन गया हूं और मंत्री और फिर मुख्यमंत्री बनूंगा. ये बातें आपके दिमाग में नहीं आनी चाहिए.’’ आप संयोजक ने विभिन्न सरकारी विभागों में 25,000 रिक्तियों को भरने की घोषणा तथा पूर्व मंत्रियों और पूर्व विधायकों की सुरक्षा वापस लेने से संबंधित फैसलों के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री की सराहना की.

कोई भी अवैध सिफारिश नहीं करें, जनता की समस्याओं को दूर करने के लिए काम करें: मान

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने रविवार को अपनी पार्टी के विधायकों से कहा कि वे लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए काम करें. साथ ही उन्होंने किसी भी अवैध काम के लिए सिफारिश नहीं करने के प्रति भी आगाह किया. उन्होंने आम आदमी पार्टी के विधायकों से पंजाब को एक जीवंत राज्य में बदलने के लिए कड़ी मेहनत करने के लिए भी कहा. मान ने विधायकों को कोई भी अवैध सिफारिश करने के खिलाफ आगाह करते हुए कहा, ”अगर आप किसी के लिए सिफारिश करते हैं, तो इसका मतलब है कि आप किसी और का अधिकार छीन रहे हैं.” मान ने यहां मोहाली में अपनी पार्टी के 91 विधायकों को संबोधित करते हुए यह सलाह दी.

इस मौके पर उन्होंने कहा, ”लोगों ने हमें एक बहुत बड़ा जनादेश दिया है. हमें लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए कोने-कोने तक पहुंचना होगा. हमें लोगों के जीवन में बदलाव लाना है.” पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा, ”जहां भी कोई समस्या है, हमें वहां जाना होगा. हमें यह नहीं देखना चाहिए कि हमें किसी गांव से कम वोट मिले हैं.” आम आदमी पार्टी के पंजाब के सह प्रभारी राघव चड्ढा भी इस मौके पर मौजूद थे. मान ने कहा कि यह सरकार भी उन लोगों की है, जिन्होंने आप को वोट नहीं दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

हर घर तिरंगा अभियान


This will close in 10 seconds