फिल्म ‘कश्मीर फाइल्स’ को कर मुक्त करने को लेकर राबड़ी देवी ने नीतीश पर साधा निशाना

पटना/नयी दिल्ली, बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ को मनोरंजन कर से छूट देने के लिए बृहस्पतिवार को राज्य की नीतीश कुमार सरकार पर तीखा हमला बोला और कहा कि फिल्म देखने से ‘’लोगों का पेट नहीं भरता है.’’ राबड़ी देवी ने विधान परिषद के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर इस टिप्पणी के साथ तंज भी कसा कि गोधरा ट्रेन अग्निकांड के बाद गुजरात में हुए दंगों पर भी फिल्में बनाई जानी चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘‘वे एक फिल्म को कर मुक्त कर रहे हैं. फिल्म देखने से लोगों का पेट नहीं भरता. यह बेरोजगारों को रोजगार नहीं देता है. सत्तारूढ़ सरकार को लगता है कि उसने कल्याणकारी योजनाओं के तहत कुछ किलोग्राम खाद्यान्न वितरित करके अपने सभी दायित्वों को पूरा कर दिया है.’’ राजद नेता राबड़ी देवी के पति लालू प्रसाद ने तत्कालीन रेल मंत्री के रूप में गोधरा ट्रेन अग्निकांड पर सवाल उठाए थे. राबड़ी देवी ने यह भी कहा कि पूरे गुजरात में हुई सांप्रदायिक ंिहसा पर फिल्में बनाई जानी चाहिए, जिसके तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी थे.

इस बीच, राजद के एक अन्य वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने एक बयान जारी करके इस मामले पर नीतीश कुमार की “चुप्पी” की आलोचना की. तिवारी ने कहा, ‘‘भाजपा, जो एक गठबंधन सहयोगी है, एक ऐसी फिल्म के लिए कर छूट प्राप्त करने में सफल रही है, जो एक समुदाय का खराब चित्रण करने के अलावा कुछ नहीं करती है. समाजवादी खेमे से ताल्लुक रखने वाले नीतीश कुमार से ऐसी उम्मीद नहीं थी.’’ उन्होंने यह भी कहा कि यह बिना कारण नहीं है कि देशभर के भाजपा नेता विवेक अग्निहोत्री द्वारा निर्देशित और अनुपम खेर अभिनीत फिल्म के बारे में बाते कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि अग्निहोत्री और खेर दोनों ही, भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उत्साही समर्थकों के तौर पर जाने जाते हैं.

भाजपा विधायक ने ‘द कश्मीर फाइल्स’ को दिल्ली, पंजाब में कर मुक्त करने की मांग की

भाजपा विधायक विजेंदर गुप्ता ने बृहस्पतिवार को फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ को दिल्ली और पंजाब में कर मुक्त किए जाने की मांग करते हुए कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोग फिल्म का टिकट लेने में असमर्थ हैं. दिल्ली और पंजाब दोनों जगह आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार है. राष्ट्रीय राजधानी में सरकार का नेतृत्व अरंिवद केजरीवाल कर रहे हैं, तो पंजाब में भगवंत मान के हाथ में सरकार की कमान है.

गुप्ता ने एक बयान में चेतावनी दी कि अगर उनकी मांग नहीं मानी गई, तो वह दिल्ली के मुख्यमंत्री कार्यालय के बाहर धरना देंगे.
हाल ही में रिलीजÞ हुई फिल्म 1990 के दशक में घाटी से कश्मीरी पंडितों के पलायन पर आधारित है. फिल्म को उत्तर प्रदेश और हरियाणा सहित कई राज्यों द्वारा कर-मुक्त कर दिया गया है. विधायक ने कहा कि फिल्म ‘‘कश्मीरी ंिहदुओं के नरसंहार और नस्ली सफाए’’ के मुद्दे को सामने लेकर आई है.

गुप्ता ने कहा, ‘‘समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोग इतनी अधिक (टिकट) कीमत वहन करने में असमर्थ हैं. फिल्म को पहले ही हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कर-मुक्त किया जा चुका है. दिल्ली के लोगों को हरियाणा और उत्तर प्रदेश में फिल्म देखने जाने के लिए मजबूर किया जा रहा है.’’ उन्होंने कहा कि अगर केजरीवाल आप शासित राज्यों में फिल्म को कर मुक्त करने में विफल रहते हैं, तो वह दिल्ली के मुख्यमंत्री कार्यालय में धरने पर बैठेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button