महाराष्ट्र के बागी विधायकों का असम प्रवास :सरमा ने कहा, बाढ़ प्रभावित राज्य को राजस्व की जरूरत

गुवाहाटी. असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने बुधवार को कहा कि वह सभी आगंतुकों का असम में स्वागत करते हैं क्योंकि बाढ़ प्रभावित राज्य को राजस्व की जरूरत है. उन्होंने यह टिप्पणी महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना के विधायक एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में बागी विधायकों के यहां आने और उन्हें लग्जरी होटल में ठहराए जाने के कुछ घंटों बाद की. उन्होंने कहा कि वह खुश होंगे अगर असम ‘‘अंतरराष्ट्रीय राजनीतिक केंद्र बनता है.’’ हालांकि, उन्होंने इस बारे में विस्तृत जानकारी नहीं दी.

यहां आयोजित एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से बातचीत करते हुए सरमा ने कहा कि गुवाहाटी में कई लग्जरी होटल हैं और अगर कमरे भरे होते हैं ‘‘ तो हमें खुश होना चाहिए क्योंकि इससे राजस्व आता है. हम इसके जरिये जीएसटी प्राप्त करेंगे जिसकी हमें इस मुश्किल समय में जरूरत है ,जब राज्य बाढ़ का सामना कर रहा है.’’ गौरतलब है कि असम के 32 जिलों में बाढ़ से करीब 55 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. अबतक बाढ़ से करीब 89लोगों की जान गई है.

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘‘उनका (विधायकों) यहां आना किसी विवाद की वजह क्यों होनी चाहिए? हम सभी पर्यटकों का राज्य में स्वागत करते हैं क्योंकि हमें बाढ़ का मुकाबला करने के लिए धन की जरूरत है. हम देवी लक्ष्मी को क्यों वापस लौटाए जब हमारे अधिकतर होटल खाली हैं या उनके इस समय कमरे कम भरे हैं?’’ जब उनसे पूछा गया कि क्या वह बागी विधायकों से मुलाकात करेंगे तो सरमा ने कहा कि उन्हें इसकी जरूरत नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘‘अगर संभव हुआ, तो मैं उनसे पांच मिनट के लिए मिल सकता हूं. इस बीच, मेरे कुछ विधायक सहयोगी उनके संपर्क में हैं.’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि वह बाढ़ की स्थिति से निपटने में व्यवस्त हैं और बुधवार को नगांव और बृहस्पतिवार को सिलचर जाएंगे.
उन्होंने कहा, ‘‘मैं खुश हूंगा अगर राज्य अंतरराष्ट्रीय राजनीतिक केंद्र बन जाए. मैं सभी से अपील करूंगा कि वे राज्य में आए ताकि हम राजस्व प्राप्त कर सकें और स्थिति से निपट सके.’’ गौरतलब है कि महाराष्ट्र के विधायक भाजपा शासित इस राज्य में बुधवार सुबह ही सूरत से चार्टर विमान से पहुंचे और उन्हें गुवाहाटी के बाहरी इलाके स्थित लग्जरी होटल में कड़ी सुरक्षा के बीच रखा गया है. शिंदे ने हवाई अड्डे के बाहर शुरू में मीडिया से बात करने से इंकार कर दिया, लेकिन बाद में दावा किया कि उनके पास 46 विधायकों का समर्थन हासिल है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button