यूक्रेन के मारियुपोल में रूस ने खतरनाक तरीके से तबाही मचाई, अब तक 5000 लोगों की मौत 

कीव. रूस-यूक्रेन के बीच छिड़ी जंग 43वें दिन भी जारी है (Russia-Ukraine War). दोनों में से कोई देश झुकने के लिए तैयार नहीं है. यूक्रेन के मारियुपोल में रूस ने खतरनाक तरीके से तबाही मचाई है. शहर में अब तक 5000 लोगों की मौत हो चुकी है. इस बीच नॉर्थ एटलांटिक ट्रिटी ऑर्गनाइजेशन (NATO) के जनरल सेक्रेटरी जेन्स स्टोल्टेनबर्ग ने कहा कि यूक्रेन के खिलाफ रूस के युद्ध में महीनों या साल भी लग सकते हैं. इसलिए सहयोगी देशों को रूसी आक्रमण का मुकाबला करने में यूक्रेन का समर्थन करना जारी रखना चाहिए.

वहीं, अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने बुधवार को दावा किया कि यूक्रेन रूस के खिलाफ युद्ध जीत सकता है. उन्होंने इसके पीछे पुतिन की चाल का असफल होना बताया है. उन्होंने कहा कि पुतिन एक भी रणनीतिक उद्देश्य में सफल नहीं हो सके हैं.

अमेरिकी संसद में रूसी वॉर क्राइम की जांच के लिए बिल पास अमेरिकी संसद ने यूक्रेन में हो रहे वॉर क्राइम की जांच की मांग की. इसके लिए एक बिल पर बुधवार रात वोटिंग हुई. 418 सांसदों ने समर्थन में वोट किया, जबकि, 6 रिपब्लिकन सांसदों ने प्रस्ताव के खिलाफ वोटिंग किया.

यूक्रेन को किलर ड्रोन देगा अमेरिका
अमेरिका जंग में यूक्रेन की मदद के लिए उसे 10 स्विचब्लेड ड्रोन देगा. ये मीलों दूर से टैंक को सटीक टार्गेट कर सकता है. इतनी ही नहीं, स्विचब्लेड एक रोबोटिक स्मार्ट बम है, जो कैमरे, गाइडेंस सिस्टम और विस्फोटक से लैस है. इन्हें मीलों दूर बैठकर भी अपने लक्ष्यों पर ऑटोमैटिक मोड से अटैक करने के लिए प्रोग्राम किया जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button