यूक्रेन के खिलाफ परमाणु हथियार के इस्तेमाल का इरादा नहीं : रूस

मास्को/ल्वीव/संयुक्त राष्ट्र. रूस ने शुक्रवार को कहा कि यूक्रेन में परमाणु हथियार तैनात करने का उसका कोई इरादा नहीं है. एक दिन पहले अमेरिका में रूस के शीर्ष राजनयिक ने पश्चिमी देशों के अधिकारियों पर ‘‘निराधार’’ आरोप लगाने के लिए निशाना साधा था. रूस के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता एलेक्सी जैतसेव ने कहा, ‘‘रूस इस सिद्धांत का दृढ़ता से पालन करता है कि परमाणु युद्ध में कोई विजेता नहीं हो सकता और इसका इस्तेमाल नहीं होना चाहिए.’’

जैतसेव ने कहा कि यूक्रेन और पश्चिमी देश ‘‘उकसावे के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं’’ और रूस को ‘‘मीडिया में दुष्प्रचार और जमीन पर किसी भी घटनाक्रम के लिए तैयार रहना होगा.’’ अमेरिका में रूस के राजदूत एनातोली एंतोनोव ने बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘हमारे देश की परमाणु नीति पर रूसी अधिकारियों के बयान को तोड़ मरोड़कर पेश किया जा रहा है.’’ एंतोनोव ने कहा कि पश्चिमी देश यूक्रेन की स्थिति से ‘‘गैर जिम्मेदाराना’’ तरीके से निपट रहे हैं. उन्होंने कहा कि उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के रुख और लगातार यूक्रेन को दी जा रही मदद से परमाणु युद्ध को लेकर तनाव भड़काया जा रहा है. रूस के राष्ट्रपति कार्यालय ‘क्रेमलिन’ के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव और रूस की संसद के अध्यक्ष व्याचेस्लाव वोलोदिन ने भी इस सप्ताह कहा था कि मास्को पहले परमाणु हथियारों का इस्तेमाल नहीं करेगा.

रूस अपने ‘विजय दिवस’ से पहले मारियुपोल को कब्जे में लेना चाहता है : ब्रिटेन की सेना

ब्रिटेन की सेना का मानना है कि रूस अपने ‘विजय दिवस’ से पहले यूक्रेन के बंदरगाह शहर मारियुपोल और इस्पात संयंत्र को अपने नियंत्रण में लेना चाहता है. यूक्रेन पर रूस के आक्रमण की शुरुआत से ही ब्रिटेन रोजाना सार्वजनिक रूप से खुफिया रिपोर्ट जारी करता रहा है. मारियुपोल में अजोवस्तल इस्पात संयंत्र क्षेत्र में कई सप्ताह से लड़ाई जारी है, जहां रूसी बमबारी से बचने के लिए यूक्रेन के सैनिकों और आम नागरिकों ने भूमिगत सुरंगों में डेरा डाला हुआ है.

ब्रिटेन की सेना ने कहा, ‘‘ रूस ने अजोवस्तल इस्पात संयंत्र और मारियुपोल पर कब्जा करने के प्रयास फिर तेज कर दिए हैं, जो नौ मई को विजय दिवस से पहले एक बड़ी उपलब्धि और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की यूक्रेन में एक प्रतीकात्मक सफलता की इच्छा से जुड़ा है.’’ रूस द्वितीय विश्व युद्ध में नाजी जर्मनी पर तत्कालीन सोवियत संघ की जीत की तारीख नौ मई को अपना विजय दिवस मनाता है.

मारियुपोल के इस्पात संयंत्र से लोगों की निकासी का अभियान जारी: संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि यूक्रेन में रूसी बलों से घिरे बंदरगाह शहर मारियुपोल और अजोवस्तल इस्पात संयंत्र से आम लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए तीसरा निकासी अभियान जारी है. विश्व निकाय के महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को बताया कि तीसरा निकासी अभियान जारी है. वहीं, संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख मार्टिन ग्रिफिथ ने कहा कि लक्ष्य मारियुपोल और अजोवस्तल इस्पाल संयंत्र में फंसे ज्यादा से ज्यादा लोगों को निकालने का है.

गुतारेस के मुताबिक, मंगलवार को खत्म हुए पहले निकासी अभियान के तहत अजोवस्तल संयंत्र से 101 और इसके आसपास के क्षेत्रों से 59 आम नागरिकों को सुरक्षित निकाला गया. उन्होंने बताया कि बुधवार रात पूरे हुए दूसरे निकासी अभियान के तहत मारियुपोल और इसके आसपास के इलाकों से 320 से अधिक लोगों को सुरक्षित निकाला गया. गुतारेस ने रूस और यूक्रेन के राष्ट्रपतियों के साथ हुई अपनी बातचीत में मारियुपोल सहित अन्य क्षेत्रों से आम लोगों की निकासी को लेकर समझौते का मार्ग प्रशस्त किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button