स्कूल में यौन उत्पीड़न: दिल्ली नगर निगम ने स्कूल के प्रधानाचार्य और शिक्षक को किया निलंबित

दिल्ली के स्कूल में दो छात्राओं के साथ छेड़खानी के आरोप में व्यक्ति गिरफ्तार

नयी दिल्ली.  पूर्वी दिल्ली नगर निगम के महापौर श्याम सुंदर अग्रवाल ने शुक्रवार को कहा कि भजनपुरा स्कूल के प्रधानाचार्य और एक शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है तथा एक संविदा कर्मचारी की सेवाएं समाप्त कर दी हैं जहां कुछ दिन पहले एक व्यक्ति ने दो लड़कियों से कथित तौर पर छेड़छाड़ की थी.

पूर्वी दिल्ली नगर निगम (ईडीएमसी) की ओर से जारी एक बयान में महापौर ने कहा, ”बच्चों की सुरक्षा के मामले में कोई चूक बर्दाश्त नहीं की जाएगी. अधिकारी का कद कितना भी बड़ा क्यों न हो, कार्रवाई की जाएगी. हमने घटना की पूरी जांच के बाद दोषियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई की है.” आदेश की प्रति साझा करते हुए महापौर ने कहा कि संबंधित आधिकारिक आदेश पांच मई को जारी किए गए थे.

महापौर ने कहा, ”ईडीएमसी के तहत 354 स्कूल हैं. इस कार्रवाई के माध्यम से हम दूसरों को भी चेतावनी देना चाहते हैं कि कोई ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी.” यह पूछे जाने पर कि क्या सुरक्षाकर्मी और सीसीटीवी कैमरों के मुद्दों का समाधान किया जाएगा, अग्रवाल ने कहा, ”हमारे पास पहले से ही पैसों की तंगी है. हम चौबीसों घंटे सुरक्षार्किमयों को तैनात करने का खर्च नहीं उठा सकते हैं. अगर हमें दिल्ली सरकार से हमारा बकाया पैसा मिलता है, तो हम ऐसा करेंगे.” गौरतलब है कि 30 अप्रैल को स्कूल की प्रार्थना सभा के बाद एक व्यक्ति कथित रूप से कक्षा में घुसा और आठ साल की दो बच्चियों के साथ छेड़खानी की, फिर उनके सामने अपने सभी कपड़े उतारे.
आरोपी के स्केच के आधार पर एक व्यक्ति को शक के आधार पर हिरासत में लिया गया है.

महापौर अग्रवाल ने कहा, ”निर्णय के अनुसार, प्रधानाचार्य और एक शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है, और एक संविदा शिक्षक की सेवाएं, जिसे पहले मामले की सूचना दी गई थी, समाप्त कर दी गई है.” उन्होंने कहा, इसके अलावा, एक शिक्षक और एक स्कूल निरीक्षक को ”कारण बताओ नोटिस” जारी किया गया है, और ईडीएमसी के शिक्षा विभाग के जोनल उप निदेशक को “कड़ी चेतावनी” दी गई है. दिल्ली महिला आयोग ने दावा किया है कि जब छात्राओं ने इस घटना की जानकारी प्रधानाचार्य और शिक्षक को दी तो उन्हें चुप रहने और इसे भूल जाने को कहा गया. पुलिस ने बताया कि स्कूल के प्रवेश द्वार या परिसर में कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं था.

दिल्ली के स्कूल में दो छात्राओं के साथ छेड़खानी के आरोप में व्यक्ति गिरफ्तार

पूर्वी दिल्ली नगर निगम के एक स्कूल में कक्षा के भीतर दो बच्चियों के साथ कथित रूप से छेड़खानी करने के आरोप में 40 साल के व्यक्ति को शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने बताया कि आरोपी की पहचान यमुना विहार निवासी वरुण जोशी के रूप में हुई है. उन्होंने बताया कि आरोपी शराबी है और जब उसे गिरफ्तार किया गया, उस वक्त भी वह नशे में था.

पुलिस ने बताया कि 30 अप्रैल को स्कूल की प्रार्थना सभा के बाद जोशी कथित रूप से कक्षा में घुसा और आठ साल की दो बच्चियों के साथ छेड़खानी की, फिर उनके सामने अपने सभी कपड़े उतारे और उनके सामने ही पेशाब कर दिया. उन्होंने बताया कि शिकायत दर्ज होने पर पुलिस ने आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज की मदद से जोशी का स्केच बनाया और उसकी तलाश शुरू की. उन्होंने बताया कि स्कूल में कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं था.

पुलिस ने शुरुआत में दो लोगों को हिरासत में लिया था लेकिन पूछताछ के बाद उन्हें जाने दिया. उन्होंने बताया कि सीसीटीवी फुटेज के आधार पर बने स्केच और स्कूल प्रशासन की आरोपी के कड़ा पहने होने की सूचना के आधार पर जोशी को पकड़ा गया. पुलिस ने बताया कि भजनपुरा थाने में रविवार को भारतीय दंड संहिता और पॉक्सो कानून की संबंधित धाराओं में प्राथमिकी दर्ज की गई. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जोशी अविवाहित और बेरोजगार है. उन्होंने बताया कि वह स्कूल के आसपास रहता है और उसे अश्लील सामग्री देखने की लत है. उसके मोबाइल से ऐसे कई वीडियो मिले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button