राहुल के साथ बैठक में सैलजा ने ‘जी23’ के नेताओं पर निशाना साधा

नयी दिल्ली. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की शुक्रवार को पार्टी की हरियाणा इकाई के वरिष्ठ नेताओं के साथ हुई बैठक में प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने ‘जी23’ समूह के नेताओं पर निशाना साधा और कहा कि पार्टी नेतृत्व को चुनौती दे रहे इन नेताओं ने इसी व्यवस्था के भीतर पद और सम्मान हासिल किए। सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में हालांकि सैलजा ने किसी नेता का नाम नहीं लिया।

गांधी परिवार की विश्वासपात्र मानी जाने वाली सैलजा ने उस बैठक में ‘जी 23″ नेताओं को निशाने पर लिया, जिसमें इस समूह के एक सदस्य और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र ंिसह हुड्डा मौजूद थे। पार्टी सूत्रों ने बताया, “बैठक में सैलजा ने जी23 का विषय उठाया। उन्होंने कहा कि जो लोग आज संगठन में सुधारों के बहाने गांधी परिवार के नेतृत्व को चुनौती दे रहे हैं उन्होंने इसी सिस्टम में पद और सम्मान हासिल किए।” उल्लेखनीय है कि हालिया विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की हार के बाद ‘जी 23’ समूह के नेताओं ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी है। वे कांग्रेस में सामूहिक और समावेशी नेतृत्व की मांग कर रहे हैं।

सूत्रों के अनुसार, राहुल गांधी के साथ हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के कुछ नेताओं के बीच कुछ विषयों को लेकर वाद-प्रतिवाद भी हुआ।
एक सूत्र ने बताया कि जब दीपेंद्र हुड्डा ने प्रदेश में संगठन बना लिए जाने की बात की, तो राहुल गांधी ने इससे स्पष्ट रूप से असहमति जताई।

सूत्रों ने बताया, “बैठक में कुलदीप बिश्नोई ने गैर जाट नेतृत्व के पक्ष में तर्क दिए तो दीपेंद्र हुड्डा ने प्रतिवाद किया और कहा कि हिसार में आठ लाख गैर जाट मतदाता हैं और जाट (मतदाता) चार लाख के आसपास हैं तो फिर उनके पुत्र (भव्य बिश्नोई)पिछले लोकसभा चुनाव में तीसरे स्थान पर क्यों रहे?” इस बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र ंिसह हुड्डा, प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष कुमारी सैलजा, पार्टी के प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल, मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला, सांसद दीपेंद्र हुड्डा, किरण चौधरी, अजय यादव और कुछ अन्य नेता मौजूद थे।

सूत्रों ने बताया कि तीन घंटे से अधिक समय तक चली इस बैठक में पार्टी को मजबूत करने और मिलकर आगे बढ़ने पर भी जोर दिया गया। इसके साथ ही, हरियाणा में पार्टी के सामने खड़ी चुनौतियों और खासकर पंजाब में आम आदमी पार्टी की जीत का हरियाणा पर असर पड़ने की संभावना के संदर्भ में बातचीत हुई।

यह बैठक इस मायने में भी महत्वपूर्ण है कि समय-समय पर कांग्रेस की हरियाणा इकाई में गुटबाजी की खबरें आती रही हैं।
सूत्रों ने बताया कि राहुल गांधी ने सभी नेताओं की बात सुनी और कहा कि सभी एकजुट होकर पार्टी को मजबूत बनाने के लिए काम करें।

बैठक के बाद सैलजा ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘पार्टी को मजबूत बनाने सहित कई मुद्दों पर चर्चा हुई। लोगों ने अपनी राय प्रकट की और राहुल गांधी ने सभी को सुना।’’ भूपेंद्र हुड्डा ने कहा कि सभी ने पार्टी को मजबूत बनाने के लिए अपने विचार रखे तथा कोई मतभेद नहीं था और अब एकजुट होकर चुनाव लड़ेंगे।

हालिया विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की करारी हार के बाद पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और वरिष्ठ नेता राहुल गांधी उन प्रदेशों के नेताओं के साथ लगातार बैठकें कर रहे हैं जहां आने वाले महीनों में चुनाव होने हैं। पिछले दिनों सोनिया ने हिमाचल प्रदेश के पार्टी नेताओं के साथ बैठक की थी। राहुल ने गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष जगदीश ठाकोर और प्रभारी रघु शर्मा के साथ बैठक की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button