सौरव गांगुली ने ममता बनर्जी के साथ अपने संबंधों के बारे में बात की

कोलकाता. भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के घर आने और परिवार के साथ रात्रि भोज करने के एक दिन बाद शनिवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ अपने करीबी संबंधों पर बात की, जो भाजपा की धुर आलोचक कही जाती हैं.

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान गांगुली ने पश्चिम बंगाल के मंत्री और कोलकाता के महापौर फिरहाद हकीम की भी प्रशंसा की और उन्हें एक ऐसा व्यक्ति बताया, जिससे किसी भी समय कोई भी संपर्क कर सकता है. गांगुली ने यहां एक निजी अस्पताल के उद्घाटन कार्यक्रम में कहा, ”हमारी माननीय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मेरी बहुत करीबी हैं. मैंने इस संस्थान की मदद के लिए उनसे संपर्क किया था.”

पूर्व क्रिकेटर ने कहा, ”मैं फिरहाद हकीम के भी बहुत करीब हूं. वह मुझे तब से देख रहे हैं जब मैं पहली कक्षा में था. वह हमारे पारिवारिक मित्र हैं. जो भी उससे संपर्क करता है उसे मदद मिलती है. मैंने भी उन्हें कई बार फोन किया है.” शाह के शुक्रवार को गांगुली के आवास पर जाने से यह अटकलें तेज हो गई थीं कि पूर्व क्रिकेटर जल्द ही राजनीति में हाथ आजमा सकते हैं.

हालांकि रात्रिभोज को एक करीबी पारिवारिक संबंध बताया गया, जिसकी गांगुली, उनकी पत्नी डोना गांगुली, सौरव के बड़े भाई स्रेहाशीष गांगुली और परिवार के अन्य सदस्यों ने मेजबानी की. शाह के साथ भाजपा के विचारक स्वप्न दासगुप्ता, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार और पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी भी थे.

अटकलों से वाकिफ गांगुली ने शुक्रवार को कहा था, ”कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं…लेकिन मैं उन्हें (शाह को) 2008 से जानता हूं. क्रिकेट खेलते वक्त मैं उनसे मिलता था. इससे ज्यादा कुछ नहीं है.” उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड में शाह के पुत्र जय शाह के साथ काम किया है. जय शाह बीसीसीआई के सचिव हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button