हिंसा के दौरान श्रीलंका के सांसद की मौत खुदकुशी नहीं बेरहमी से कत्ल है: पुलिस

कोलंबो. श्रीलंका के सत्तारूढ़ दल के जिस पूर्व सांसद की नित्तमबुवा शहर में हिंसक झड़प में मौत हो गई थी, उसने आत्महत्या नहीं की बल्कि भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला था. पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. पूर्व प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे-नीत श्रीलंका पोदुजाना पेरामुना (एसएलपीपी) सरकार के दौरान सांसद रहे अमरकीर्ति अथुकोरला का सोमवार को एक हिंसक भीड़ से सामना हो गया था जिसके बाद उनकी मौत हो गई थी.

पहले यह दावा किया गया था 57 वर्षीय अथुकोरला को सोमवार को एक भीड़ ने घेर लिया था जिसके बाद उन्होंने दो लोगों पर गोली चलाई और फिर खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली. इकॉनमी नेक्स्ट अखबार के अनुसार शुक्रवार को पुलिस प्रवक्ता निहाल थाल्दुवा ने कहा, ‘‘जिस सांसद की मौत हुई, दरअसल उनकी हत्या की गई थी.’’ थाल्दुवा ने कहा, ‘‘उन्हें गोली नहीं मारी गई.

प्रदर्शनकारियों ने उनकी हत्या की थी. पीट-पीटकर उनकी हत्या की गई. वह भागने का प्रयास कर रहे थे लेकिन उन्हें पकड़ लिया गया और मार दिया गया. वह आत्महत्या नहीं थी.’’ राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने उस हिंसक झड़प की जांच करने का आदेश दिया है जिसमें अथुकोरला समेत कम से कम नौ लोगों की मौत हो गई थी और लगभग 300 लोग घायल हो गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button