जवानों के हौसलों से बस्तर अंचल में आया सुखद परिवर्तन: भूपेश बघेल

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य शासन की नीतियों, सुरक्षा बल के जवानों के आम जनता के साथ मित्रवत व्यवहार और जवानों के हौसले से बस्तर अंचल के निवासियों का मनोबल बढ़ा है और आप उनका विश्वास जीतने में सफल हुए हैं. आपकी मेहनत से बस्तर में यह सुखद परिवर्तन देखने को मिल रहा है. मुख्यमंत्री आज भेंट-मुलाकात अभियान के दौरान बीजापुर जिले के आवापल्ली थाना परिसर में सुरक्षा बल के जवानों को सम्बोधित कर रहे थे. मुख्यमंत्री ने सुरक्षा बल के जवानों से बड़ी आत्मीयता से मुलाकात की और उनका हालचाल पूछा. उन्होंने जवानों के आग्रह पर उनके साथ सेल्फी भी ली.

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि सड़क, पुल पुलियों के निर्माण, अस्पताल, स्कूल, आंगनबाडी, राशन दुकानों के संचालन से अब परिस्थितियां बदल गईं हैं. समाज सुरक्षित महसूस कर रहा है यह केवल बस्तर की ही उपलब्धि नहीं बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ के लिए भी उपलब्धि है. यह आप सभी की मेहनत का ही नतीजा है. मैं आप सभी को सलाम करता हूं और बधाई देता हूं. मुख्यमंत्री ने थाना परिसर में सुरक्षा बल के जवानों के साथ दोपहर का भोजन किया. इस अवसर पर उद्योग मंत्री कवासी लखमा, लोकसभा सांसद दीपक बैज, बीजापुर विधायक विक्रम सिंह मंडावी, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा भी उपस्थित थे.

मुख्यमंत्री ने सुरक्षा बल के जवानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि तीन सालों में लोगों में डर का भाव खत्म हुआ. अब सुदूर वनांचल में डॉक्टर जाकर इलाज कर रहे हैं, शिक्षा के लिए मार्ग प्रशस्त हुए हैं, बंद स्कूल फिर शुरू हुए हैं. आपके मित्रवत व्यवहार के कारण वनांचल में अनुकूल परिवर्तन हुए हैं. पहले कैंप का विरोध हुआ करता था अब बीजापुर में 9 और सुकमा में 8 कैम्प संचालित किए जा रहे हैं वह भी हार्ड कोर एरिया में. अब कैंप के पास सोलर लाइट की व्यवस्था है, स्कूल, पीडीएस आंगनबाड़ी केंद्र संचालित किए जा रहे हैं. यह सब आप सभी की इच्छा शक्ति का ही परिणाम है.

उन्होंने बताया कि कल शाम सुकमा में भेंट मुलाकात के दौरान आदिवासी समाज एवं विभिन्न समाजों के प्रतिनिधियों से मुलाकात हुई. इस दौरान व्यापारी संघ के प्रतिनिधि ने बताया कि इस सरकार के आने के बाद अब हम जिले से बाहर रिश्तेदारी कर पा रहे हैं, नहीं तो नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने के कारण न कोई बेटी देने तैयार था और ना ही बेटी लेने. अब यह स्थिति नहीं है.

भोजन पर मुख्यमंत्री के साथ बैठे उप निरीक्षक धरम सिंह तुलावी ने बताया कि वे मोहला-मानपुर के रहने वाले हैं. मुख्यमंत्री द्वारा नक्सल समस्या की जानकारी पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि शासन की विकास आधरित नीतियों, सड़क निर्माण, पुल पुलियों के निर्माण, अस्पताल, स्कूल आंगनबाडी के निर्माण से अब परिस्थितियां बदल गईं हैं. मुख्यमंत्री ने अपने साथ भोजन कर रही डीआरजी की महिला आरक्षक सुशोभा कोर्राम से बीजापुर में नक्सली गतिविधियों एवं हाल के दिनों में आये परिवर्तन की जानकारी ली.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आवापल्ली थाना परिसर में सुरक्षा बलों के जवानों के साथ दोपहर का भोजन किया. उन्होंने बताया कि सुकमा में कल सहायक आरक्षक के परिवारों से मुलाकात हुई फोटो सेशन भी हुए. दुर्गा फाइटर बेटियां से भी मिलना हुआ, उनका जोश देखते ही बनता है. आप के साथ भोजन करना सुखद अनुभव है. आज यहां हमारे साथ मंत्रालय के अधिकारीगण भी उपस्थित हैं, जिन्हें कभी छुट्टियां नहीं मिलती. अब से कुछ साल पहले तक कोई व्यक्ति बीजापुर तक आने की नहीं सोचता था. फोर्स के जवान भी हेलीकॉप्टर से आना-जाना करते थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button