पुलिस के साथ मुठभेड़ में तीन खूंखार नक्सली ढेर

भोपाल. मध्यप्रदेश के बालाघाट जिले में सोमवार सुबह सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में एक महिला सहित तीन खूंखार नक्सली मारे गए. इन तीनों पर कुल मिलाकर 30 लाख रुपये से अधिक का इनाम था. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने यह जानकारी दी. राज्य सरकार ने नक्सलियों को मार गिराने वाले पुलिसर्किमयों को ‘आॅउट आॅफ टर्न प्रमोशन’ और वीरता पुरस्कार दिए जाने का ऐलान किया है.

मिश्रा ने यहां संवाददाताओं को बताया कि यह मुठभेड़ राज्य की राजधानी भोपाल से करीब 450 किलोमीटर दूर बालाघाट जिले के बहेला थाना क्षेत्र में हुई. उन्होंने कहा, ‘‘बालाघाट जिले के बहेला थाना इलाके में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में तीन इनामी नक्सली मारे गए हैं. हॉक फोर्स ने मुठभेड़ में नक्सलियों के डिवीजनल कमेटी के नक्सली नागेश और एरिया कमांडर नक्सली मनोज और रामे को ढेर किया है. नागेश पर 15 लाख रूपये और मनोज एवं रामे पर आठ-आठ लाख रुपये का इनाम था. ’’ मिश्रा ने इसके लिए पूरी पुलिस टीम को बधाई दी है. उन्होंने कहा कि हॉक फोर्स सभी नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सतर्क है.

इसी बीच, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया, ‘‘मध्यप्रदेश शांति का टापू है और इसकी शांति भंग करने की इजाजत किसी को नहीं है, चाहे वह नक्सली हो या कोई अपराधी. हमारी सरकार सज्जनों के लिए फूल से भी कोमल और दुर्जनों के लिए वज्र से ज्यादा कठोर है.’’ उन्होंने आगे लिखा, ‘‘हमारी सरकार नक्सलियों को नेस्तनाबूद करने में जुटी हुई है. आज मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ की सीमा पर लांजी-बहेला चौकी, लोढागी के जंगलों में नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में हमारे जवानों और पुलिसर्किमयों ने तीन इनामी हार्ड कोर (खूंखार) नक्सलियों को मार गिराया.’’

चौहान ने कहा, ‘‘इस मुठभेड़ में एक डिवीजनल कमेटी मेम्बर (डीसीएम) नागेश और दो एरिया कमेटी मेंबर (एसीएम) मनोज और रामे (महिला) जिन पर 30 लाख से अधिक का इनाम है, वो ढेर हो गये.’’ उन्होंने कहा कि इनके पास से एके-47, थ्री नॉट थ्री और 12 बोर की एक्शन गन बरामद हुई है.

चौहान ने कहा कि इस कार्रवाई को सहायत पुलिस अधीक्षक (एएसपी) बालाघाट ने लीड किया. इस दौरान उनके साथ हॉक फोर्स और मध्यप्रदेश पुलिस के जवान भी मौजूद रहे. पुलिस अधीक्षक बालाघाट, पुलिस महानिरीक्षक बालाघाट रेंज और कमांडिग आॅफिसर (सीओ) हॉक फोर्स ने पूरी कार्रवाई का मार्गदर्शन किया है. उन्होंने कहा, ‘‘जान पर खेलकर नक्सलियों को मार गिराने वाले पुलिसर्किमयों को आॅउट आॅफ टर्न प्रमोशन और गैलेंट्री आवार्ड (वीरता पुरस्कार) दिया जायेगा. मैं आपकी कर्तव्यनिष्ठा और साहस की सराहना करता हूं. मध्यप्रदेश को आप जैसे वीरों पर गर्व है.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button