ब्रिटेन प्रधानमंत्री चुनाव : ऋषि सुनक ने टीवी बहस में मतदाताओं का समर्थन हासिल किया

लंदन. ब्रिटेन में प्रधानमंत्री पद की दौड़ में शामिल ऋषि सुनक ने टेलीविजन पर हुई आमने-सामने की बहस में कंजर्वेटिव पार्टी की अपनी प्रतिद्वंद्वी लिज ट्रस को पछाड़ते हुए दर्शकों का समर्थन हासिल कर लिया. ‘स्काई न्यूज’ पर बृहस्पतिवार रात को ‘बैटल फॉर नंबर 10’ बहस में कंजर्वेटिव पार्टी के दोनों उम्मीदवारों ने उन सदस्यों को रिझाने की कोशिश की, जो चुनाव में वोट डालने के योग्य हैं, लेकिन जिन्होंने अभी यह निर्णय नहीं लिया है कि वे किसे वोट देंगे.

पूर्व वित्त मंत्री सुनक और विदेश मंत्री ट्रस ने इस पर अपनी-अपनी दलीलें रखी कि ‘10 डाउंिनग स्ट्रीट’ (ब्रिटिश प्रधानमंत्री का आवास व कार्यालय) में बोरिस जॉनसन के स्थान पर उन्हें क्यों होना चाहिए. बहस में दर्शकों के तौर पर शामिल हुए कंजर्वेटिव सदस्यों को यह बताने के लिए कहा गया कि कौन बहस जीता तथा उन्होंने हाथ उठाकर सुनक के पक्ष में फैसला दिया. यह जीत भारतीय मूल के पूर्व ब्रिटिश मंत्री के लिए मनोबल बढ़ाने वाली है जो हाल में हुए ज्यादातर जनमत सर्वेक्षणों में ट्रस से पीछे चल रहे थे.

एक सदस्य एवं मतदाता ने जब सुनक के समक्ष मतदान के आंकड़ों को रखते हुए पूछा कि क्या वह किसी भी चरण में प्रधानमंत्री पद की दौड़ से बाहर होने की योजना बना रहे हैं, इस पर सुनक ने कहा, ‘‘त्वरित जवाब है ‘नहीं’. ऐसा इसलिए है क्योंकि मैं उस चीज के लिए संघर्ष कर रहा हूं जिस पर मुझे भरोसा है और मैं अपने विचार पूरे देश में प्रसारित कर रहा हूं.’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस अभियान के अंतिम दिन तक और एक-एक मत के लिए संघर्ष करने जा रहा हूं. दांव वाकई बहुत ऊंचा है.’’ जब उनसे पूछा गया कि आखिर इतने सारे पार्टी के वरिष्ठ सदस्य और आंकड़े लिज ट्रस को तरजीह क्यों दे रहे हैं, सुनक ने कहा, ‘‘संसदीय प्रक्रिया के प्रत्येक चरण में मुझे व्यापक और सबसे अधिक समर्थन मिला है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम सभी एक टीम हैं, हम एक परिवार की तरह हैं, इसके बाद हम एकसाथ होंगे और अगला चुनाव भी जीतेंगे, क्योंकि यही वास्तविक इनाम होगा. कैबिनेट टेबल के चारों ओर बैठे तमाम लोग मेरा समर्थन करते हैं.’’ पूर्व वित्त मंत्री ने अपना ध्यान करों में कटौती से पहले बढ़ती महंगाई पर लगाम लगाने की आवश्यकता पर केंद्रित किया.

इससे कुछ घंटों पहले ‘बैंक आॅफ इंग्लैंड’ ने ब्याज दरों में वृद्धि करते हुए मंदी की चेतावनी दी. ट्रस ने कहा कि मंदी ‘‘अपरिहार्य नहीं’’ है और उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी की चेतावनी के मुकाबले ‘साहसी’ कदम उठाने का वादा किया. बहरहाल, सुनक ने मंदी के लिए कर के बोझ के आरोपों से इनकार करते हुए कहा, ‘‘यह पूरी तरह गलत है. मंदी की वजह महंगाई है.’’ दोनों उम्मीदवारों को ब्रेक्जिट, आव्रजन और सरकार द्वारा वित्त पोषित राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) सहित विभिन्न नीतिगत मामलों को लेकर तीखे सवालों का सामना करना पड़ा. आमने-सामने बैठकर सवालों के जवाब देने से संबंधित करीब डेढ़ घंटे के कार्यक्रम में सुनक से उनकी निजी सम्पत्ति और कीमती पोशाक एवं जूतों के बारे में सवाल पूछे गये.

उन्होंने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि ब्रिटेनवासी लोगों के बारे में कोई निर्णय उनके आचरण को देखकर करते हैं, न कि बैंक खाते देखकर.’’ एक सदस्य ने उनसे पूछा कि क्या आप मानते हैं कि आपने अपने हितों के लिए बोरिस (जॉन्सन) की पीठ में छुरा घोंपा है, इस पर सुनक ने कहा, ‘‘मैंने प्रधानमंत्री के साथ दो साल काम किया था और उन्होंने (जॉन्सन ने) इस दौरान बहुत ऐसे काम किये हैं, जिसके लिए उन्हें श्रेय दिया जाना चाहिए.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

हर घर तिरंगा अभियान


This will close in 10 seconds