एक दिन भी बर्बाद नहीं करूंगा: मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने के बाद मान का पंजाब से वादा

एसबीएस नगर (पंजाब). आम आदमी पार्टी (आप) के नेता भगवंत मान ने बुधवार को स्वतंत्रता सेनानी भगत ंिसह के गांव में हजारों लोगों की मौजूदगी में पंजाब के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. उन्होंने यहां राज्य में बेरोजगारी और भ्रष्टाचार से लड़ने का वादा किया.

शहीद भगत ंिसह नगर जिले के खटकड़ कलां गांव में एक जनसभा में उन्होंने कहा, ‘‘आज से ही काम शुरू हो जाएगा. हम एक दिन भी बर्बाद नहीं करेंगे. पहले ही 70 साल की देरी हो चुके है.’’ बाद में दिन में उन्होंने चंडीगढ़ में सिविल सचिवालय जाकर पदभार ग्रहण किया.

पूर्व हास्य कलाकार मान ने ‘आप’ के स्वयंसेवकों को विनम्र रहने की सलाह दी. उन्होंने कहा, ‘‘ऐसी कोई खबर नहीं आनी चाहिए कि वे अहंकारी हो गए हैं.’’ शपथ ग्रहण समारोह में सिर्फ मान ने ही शपथ ली. इस दौरान मंच और मंच के सामने बड़ी संख्या में उपस्थित लोग पीले रंग- बसंती- पगड़ी लगाए नजर आए. बसंती रंग को अक्सर भगत ंिसह के बलिदान से जोड़ा जाता है. भगत ंिसह के बलिदान की याद दिलाने वाला गाना ‘‘रंग दे बसंती’’ भी इस दौरान समारोह स्थल पर बज रहा था.

कैबिनेट के अन्य सदस्यों को बाद में शपथ दिलाई जाएगी क्योंकि ‘आप’ पंजाब विधानसभा चुनावों में मिले भारी जनादेश के बाद जनता से किए गए वादों को पूरा करना चाहती है. पार्टी, अब दिल्ली के बाद दूसरे राज्य में सत्ता में है और उसे पंजाब में हाल में हुए चुनावों में जनता ने 117 में से 92 सीटें जिताई हैं.

‘आप’ की लहर से कांग्रेस, शिरोमणि अकाली दल-बहुजन समाज पार्टी गठबंधन और अमंिरदर ंिसह की लोक कांग्रेस पार्टी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जैसी पार्टियों का सफाया हो गया. मान राज्य के 28वें मुख्यमंत्री हैं. अरंिवद केजरीवाल और दिल्ली सरकार के मंत्री भी कार्यक्रम में पीली पगड़ी पहने नजर आए. ‘आप’ के नवनिर्वाचित विधायक भी कार्यक्रम में पहुंचे.

मान की बेटी 21 वर्षीय सीरत मान और 17 वर्षीय बेटे दिलशान मान समारोह में शामिल होने अमेरिका से यहां पहुंचे थे. मान का 2015 में पत्नी से अलगाव होने के बाद दोनों बच्चे अपनी मां के साथ रहने चले गए थे. पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने 48 वर्षीय मान को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. मान ने पंजाबी में शपथ ली. मान को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को बधाई दी साथ ही आश्वस्त किया कि केंद्र सरकार राज्य के विकास के लिए उनकी सरकार के साथ मिलकर काम करेगी.

मोदी ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर भगवंत मान को बहुत बधाइयां. पंजाब के विकास और राज्य की जनता के कल्याण के लिए हम साथ मिलकर काम करेंगे.’’ तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनाइक ने भी मान को शुभकामनाएं दीं. ‘आप’ प्रमुख केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘‘मुझे यकीन है कि आपके नेतृत्व में पंजाब में समृद्धि लौटेगी, बहुत तरक्की होगी और लोगों की समस्याओं का समाधान किया जाएगा. भगवान तुम्हारे साथ है.’’

कई विपक्षी नेताओं ने भी मान को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने पर बधाई दी. गिद्दड़बाहा कांग्रेस विधायक अमंिरदर ंिसह राजा वांिरग ने मान को बधाई देते हुए ट्वीट किया, ‘‘मुझे उम्मीद है कि आप पंजाब के लोगों की उम्मीदों पर खरे उतरेंगे.’’ पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता मनप्रीत ंिसह बादल ने भी मान को बधाई दी. बादल ने कहा, ‘‘पंजाब का मुख्यमंत्री बनने पर भगवंत मान को बधाई.’’ पटियाला की सांसद परनीत कौर ने भी मान को बधाई दी और उम्मीद जताई कि वह पंजाब के विकास के लिए काम करेंगे.

भाजपा नेता मनंिजदर ंिसह सिरसा ने ट्वीट किया, ‘‘मैं पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर भगवंत मान को बधाई देता हूं. मुझे उम्मीद है कि वह पंजाब और पंजाबियों से किए गए वादों को पूरा करेंगे, जिससे उन्हें यह जनादेश मिला.’’ समारोह को दोपहर साढ़े बारह बजे (12:30) शुरू होना था लेकिन वह कुछ देरी से अपराह्न करीब एक बजकर 25 मिनट (1:25) पर शुरू हुआ. अपने संक्षिप्त संबोधन की शुरुआत से पहले मान ने ‘इंकलाब ंिजदाबाद’, ‘भारत माता की जय’ और ‘बोले सो निहाल’ के नारे लगाये. मान ने अपने संबोधन में राज्य के लोगों को आश्वासन दिया कि पंजाब में उनकी पार्टी की सरकार बेरोजगारी, भ्रष्टाचार और किसानों की दुर्दशा जैसे मुद्दों को दूर करने के लिए काम करेगी. उन्होंने वादा किया कि राज्य के सरकारी स्कूलों और अस्पतालों की स्थिति में सुधार किया जाएगा जैसे दिल्ली में ‘आप’ सरकार ने किया है.

उन्होंने कहा कि जैसे विदेश से लोग दिल्ली के बेहतर स्कूलों और अस्पतालों को देखने आते हैं, वैसे ही वे भी पंजाब आएंगे. उन्होंने पंजाब के युवाओं के बेहतर भविष्य के लिए दूसरे देशों में प्रवास करने के मुद्दे का भी जिक्र किया. शपथ ग्रहण समारोह में गुरदास मान, करमजीत अनमोल, गायक-राजनेता एवं कांग्रेस के सांसद मोहम्मद सदिकी और अमर नूरी सहित तमाम गायक और कलाकार मौजूद थे. हास्य कलाकार के तौर पर वह काफी सफल रहे और ‘ग्रेट इंडियन लॉफ्टर चैलेंज’ समेत कई फिल्मों और वीडियो एल्बम में भी नजर आए.

वह संगरूर से दो बार लोकसभा सांसद रहे हैं और 2022 के चुनावों ने उनके विधानसभा चुनाव की शुरुआत की. ‘आप’ की पंजाब इकाई के अध्यक्ष ने संगरूर संसदीय क्षेत्र के धूरी विधानसभा क्षेत्र से 58,000 मतों से जीत हासिल की. मान ने कहा कि पहले शपथ ग्रहण समारोह क्रिकेट स्टेडियमों या राजभवनों में होता था. उन्होंने कहा, ‘‘अब यह शपथ ग्रहण समारोह शहीद के गांव में होता है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘भगत ंिसह ने आजादी का सपना देखा था और आप आम लोगों तक उस आजादी को ले जाने की लिये संघर्ष कर रही है.’’ उन्होंने कहा कि भगत ंिसह को हालांकि इस बात की ंिचता थी कि आजÞाद होने के बाद देश की बागडोर कौन संभालेगा.

उन्होंने कहा, ‘‘उनकी (भगत ंिसह) ंिचता सही साबित हुई.’’ ‘आप’ को मिले भारी बहुमत पर मान ने कहा कि इतना बड़ा जनादेश देकर पंजाब के लोगों ने इतिहास रच दिया है. उन्होंने कहा, ‘‘आने वाले सालों में स्कूलों में पढ़ाया जाएगा कि लोगों ने बिना किसी डर या लालच के 20 फरवरी 2022 (पंजाब चुनाव) को वोट दिया.’’ संगरूर में मान के सतोज गांव से आए एक समर्थक ने कहा, ‘‘हमें उनसे बहुत उम्मीदें हैं और वह निश्चित रूप से उन पर खरा उतरेंगे. जिस तरह अरंिवद केजरीवाल ने दिल्ली में अच्छा काम किया, वैसा ही मान पंजाब में भी करेंगे.’’

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने पंजाब के मुख्यमंत्री के तौर पर भगवंत मान के शपथ ग्रहण समारोह के लिए मिले निमंत्रण का उल्लेख करते हुए बुधवार को अपनी पार्टी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जब चरणजीत ंिसह चन्नी ने शपथ ली थी, तब उन्हें आमंत्रित नहीं किया गया था. तिवारी हालांकि संसद का सत्र चलने की वजह से इसमें शामिल नहीं हो सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button